IT Cognizant: आखिर क्यों कॉग्निजैंट ने 200 एंप्लॉयीज को किया बाहर

0
78

कॉग्निजैंट टेक्नॉलजीज सलूशंज (CTS) ने इस साल डायरेक्टर लेवल और इससे ऊपर के 200 सीनियर एंप्लॉयीज को बाहर का रास्ता दिखा दिया। कंपनी ने इन्हें निकालने के बदले तीन-चार महीने की सैलरी दी। कॉग्निजैंट का यह कदम अपनी नई जरूरतों के मुताबिक अपने टैलंट पूल में बदलाव करने की योजना के तहत उठाया है। इसके तहत, कंपनी उन लोगों को बाहर रही रही है जो मौजूदा तकनीकी वातावरण में खुद को नहीं ढाल पा रहे हैं और उनकी जगह नए कौशल से युक्त लोगों की बहाली की जा रही है।

इन्हें निकालने की पूरी प्रक्रिया अगस्त महीने में पूरी कर ली गई। इसके लिए निकाले गए एंप्लॉयीज को 3.5 करोड़ डॉलर (करीब 2.60 अरब रुपये) देने पड़े। पिछले वर्ष कंपनी ने 400 सीनियर एंप्लॉयीज के लिए स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की योजना का ऐलान किया था। लेकिन, इस वर्ष मर्जी से कंपनी छोड़ने की कोई योजना नहीं लाई गई।

जब कंपनी से इस बाबत पूछा गया तो उसने कहा, ‘अपनी वर्कफोर्स मैनेजमेंट स्ट्रैटिजी के तहत हम सुनिश्चित करते हैं कि हमारे पास ग्राहकों की जरूरतों और अपने कारोबारी लक्ष्यों को पूरा करने में सक्षम एंप्लॉयी स्किल हो। इसी प्रक्रिया में कुछ बदलाव करने पड़े जिनमें कुछ एंप्लॉयीज को कंपनी से बाहर किया जाना शामिल है। हम अपनी क्षमता बढ़ाने और कंपनी के हर कारोबारी क्षेत्र में विभिन्न भूमिकाओं के लिए नियुक्तियां करते रहते हैं। सेवरेंस पैकेज (निकाले जाने पर दी जानेवाली रकम) या अन्य शर्तों का उद्घाटन नहीं किया जा सकता है।’

कॉग्निजैंट के फैसले से प्रभावित कुछ एंप्लॉयीज ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि उन्हें कंपनी के साथ मूचुअल रिलीज अग्रीमेंट साइन करने को कहा गया जिसके तहत उन्हें कंपनी या उसके डायरेक्टरों या अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई नहीं किए जाने की शर्त रखी गई थी। कॉन्ट्रैक्ट में यह भी कहा गया है कि एंप्लॉयी ने इस पर स्वेच्छा से हामी भरी।

LEAVE A REPLY