ऐश्वर्या के साथ रहना घुट घुट के जीने के बराबर : तेज प्रताप

0
124

टना सिविल कोर्ट में पत्नी एश्वर्या राय से तलाक की अर्जी दायर करने के बाद लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने कहा है कि वह अपनी पत्नी के साथ घुट-घुट कर नहीं जीना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि ऐसी जिंदगी से कोई फायदा नहीं है. तेज प्रताप ने बताया कि यह सच्चाई है कि उन्होंने तलाक के लिए कोर्ट में अर्जी दायर की है. अब कोर्ट फैसला करेगा कि ऐसे घुट-घुट कर जीना बेहतर है या फिर तलाक ले लेना. तेज प्रताप ने कहा कि ऐश्वर्या राय के साथ रहना उनके लिए नामुमकिन है.

तेज प्रताप यादव और एश्वर्या राय के तलाक मामले की अगली सुनवाई 29 सितंबर को है. लालू परिवार ने इस मामले में चुप्पी रखी है. सबका सवाल यही है कि आखिर हुआ क्या कि 7 फेरों का बंधन 6 महीने भी नहीं चल पाया. एश्वर्या और तेज प्रताप की शादी12 मई 2018 को पटना में हुई थी.

तेज प्रताप की शादी के तुरंत बाद जब बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी जब अपनी बहू को लेकर बांके बिहारी मंदिर पहुंची थीं तो उन्होंने एश्वर्या को अपने परिवार की ‘लक्ष्मी’ कहा था. राबड़ी ने कहा कि जब से एश्वर्या ने उनके घर में कदम रखा है उनके घर में सबकुछ अच्छा हो रहा है. लेकिन मात्र पांच महीने में ये स्थिति ऐसी बदली कि हालात तलाक तक आ पहुंची.

पटना कोर्ट में दी गई याचिका में तेज प्रताप यादव ने कहा है कि उनकी पत्नी उनके साथ ‘क्रूरता’ के साथ पेश आती थीं. पटना की एक सिविल अदालत में हिंदू मैरिज एक्ट की धारा 13 A के तहत तलाक की अर्जी दाखिल की गई है. इस धारा में पति या पत्नी कोई भी एकतरफा तलाक के लिए आवेदन दे सकता है. केस की संख्या 1208/ 2018 है और कोर्ट ने मामले की सुनवाई के लिए 29 नवंबर की तारीख को तय किया है. हालांकि तलाक की अर्जी पर एश्‍वर्या के हस्‍ताक्षर नहीं  हैं.

खबर है कि तेज प्रताप को समझाने की कोशिशें भी शुरू हुई हैं. इस बीच एश्वर्या के पिता चंद्रिका राय भी पटना में राबड़ी के घर पर पहुंचे, यहां पर दोनों परिवार के बीच चर्चा हुई है.  कहा जा रहा है कि तेज प्रताप के इस फैसले की खबर जैसे ही रांची में सजा भुगत पिता लालू यादव तक पहुंची, उनकी तबीयत भी खराब हो गई.

लालू परिवार के करीबी सूत्रों की मानें तो एश्वर्या पिछले चार महीने से अपने पिता चंद्रिका राय के घर में रही हैं. माना जाता है कि शादी के बाद ही तेज प्रताप-एश्वर्या के बीच रिश्ते सहज नहीं रह गए थे. कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक एश्वर्या राय की मां पूर्णिमा राय लालू परिवार की राजनीति में दखल देने लगी थीं.

इस बीच तलाक की खबर मीडिया में वायरल होने के बाद एश्वर्या ने पटना के भारतीय नृत्य कला मंदिर में महिलाओं के जीवन संघर्ष पर आधारित एक पेंटिंग प्रदर्शनी का उद्घाटन किया. इस समारोह में तेज प्रताप यादव को भी आमंत्रित किया गया था. प्रदर्शनी में करीब आधे घंटे तक मौजूद रहीं ऐश्वर्या काफी गुमसुम रहीं. इस दौरान जब लोगों ने एश्वर्या से बात करने की कोशिश की तो उन्होंने इनकार कर दिया.

LEAVE A REPLY