वसुंधरा राजे ने चुनाव आयोग से कि अपील, कहा- शरद यादव के खिलाफ करे कार्रवाई

0
44
rajasthan_election-vasundhara -sharad yadav

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और जेडीयू के पूर्व नेता शरद यादव की आपत्तिजनक टिप्पणी पर  नाराजगी जताई है। झालरापाटन में शुक्रवार को वोट डालने के बाद राजे ने कहा कि मैं हैरान हूं कि कोई वरिष्ठ नेता ऐसा बयान दे सकता है। भविष्य में ऐसा न हो इसके लिए चुनाव आयोग को उनके बयान पर कार्रवाई करनी चाहिए। साथ ही एक्शन लेकर एक उदाहरण पेश करना चाहिए। गुरुवार को भाजपा ने चुनाव आयोग से इसकी शिकायत भी की।

rajasthan_election-vasundhara -sharad yadav

साथ ही राजे ने कहा कि कैसे कोई भी वरिष्ठ नेता ऐसा बयान दे सकता है और जिनके हमारे परिवार से अच्छे संबंध थे। खासकर राजमाता साहब के साथ। ऐसे व्यक्ति अपनी वाणी पर संयम नहीं रख पाए। उससे बुरा क्या हो सकता है। हम नहीं चाहते है कि हमारे यंगस्टर्स को खराब मैसेज जाए। ऐसी भाषा कांग्रेस और उनके सहयोगियों के मुंह से सुनी जा सकती है।

विवादित बयान देते रहे हैं शरद यादव

शरद यादव का विवादित बयानों से पुराना नाता रहा है। 24 जनवरी 2017 को शरद यादव ने कहा था कि वोट की इज्जत बेटी की इज्जत से बड़ी होती है। बाद में अपने बयान पर सफाई देते हुए उन्होंने कहा था कि जैसे लोग बेटी से प्यार करते हैं, वैसा ही उन्हें वोट से भी प्यार करना चाहिए। अगस्त 2016 में शरद यादव ने कांवड़ियों पर विवादित टिप्पणी की थी। शरद यादव ने कहा था कि इनकी भीड़ देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि देश में कितनी बेरोजगारी है। वहीं इस बार पूर्व केंद्रीय मंत्री और जेडीयू के पूर्व नेता शरद यादव ने वसुंधरा राजे पर भी एक बयान दे दिया।उन्होंने कहा था कि वसुंधरा बहुत थक गई हैं। उन्हें आराम देना चाहिए। वे बहुत मोटी हो गई हैं। पहले पतली थीं।

इस पर राज्य वित्त आयोग की अध्यक्ष रही डॉ. ज्योति किरण ने कहा है कि राजे पर यादव की टिप्पणी घोर आपत्तिजनक है। उन्होंने राजस्थान की महिलाओं का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि यादव को इसके लिए माफी मांगनी होगी।राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा ने कहा कि कांग्रेस की अलाइंस पार्टी राजस्थान में आकर महिलाओं का अपमान करती है।

LEAVE A REPLY