बुलंदशहर में 70 फुट ऊँचा विश्व का विशाल शिवलिंग ” श्री द्वादश महालिंगेश्वर सिद्धमहापीठ”

उत्तर प्रदेश के जिला बुलंदशहर में विश्व के सबसे विशाल शिवलिंग में एक शिवलिंग है। बुलंदशहर का ये शिवालय दुनिया के सबसे बड़े शिवालयों में से एक है इस शिवालय की ऊंचाई 70 फिट है।

0
13

उत्तर प्रदेश के जिला बुलंदशहर में विश्व के सबसे विशाल शिवलिंग में एक शिवलिंग है। बुलंदशहर का ये शिवालय दुनिया के सबसे बड़े शिवालयों में से एक है इस शिवालय की ऊंचाई 70 फिट है। शिवभक्त शिवालय को द्वादश महालिंगेश्वर सिद्ध महापीठ के नाम से जानते है इस शिवालय की विशेषता ये है कि यहां एक साथ बारह ज्योतिर्लिंगों की स्थापना की गई है ताकि शिवभक्तों को एक ही जगह सभी ज्योतिर्लिंग के दर्शन का लाभ मिल सके। इस सिद्ध महापीठ का निर्माण विश्व प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य मनजीत धर्मध्वज जी ने शिव प्रेरणा से कराया है। आचार्य मनजीत जी की माने तो वो बचपन से ही हनुमान जी के भक्त रहे है और पिछले 25 वर्षों से साल से के नवरात्रों में मौन होकर गर्भ साधना करते आ रहे है साल 2009 में आचार्य जी को नवरात्रो में गर्भ साधना के दौरान स्वयं भगवान शंकर ने खुली आँखों से दर्शन दिए थे स्वयं शिव दर्शन से के बाद आचार्य जी ने शिव प्रेरणा से मैथनी ज्योतिष के अनुसार राष्ट्र हित के लिए 2009 में ही अक्षय तृतीया को इस शिवालय सिद्ध महापीठ की नींव रखी थी। 2009 से महालिंगेश्वर सिद्ध महापीठ का निर्माण कार्य शुरू होकर अप्रैल 2018 में अक्षय तृतीया को सिद्ध महापीठ में बारह ज्योतिर्लिंगों के साथ महालिंगेश्वर भगवान, माँ पार्वती, भगवान कार्तिकेय एवं गणेश की साथ कालभैरव और वीरभद्र भगवान की प्राण प्रतिष्ठा की गई है। भगवान महालिंगेश्वर की प्रसिद्धि दूर दूर तक शिवभक्तों में फैल चुकी है। प्रतिदिन असंख्य श्रद्धालु द्वादश महालिंगेश्वर सिध्महापीठ पर दर्शन करने आते है। प्रत्येक सोमवार के दिन महालिंगेश्वर भगवान का विभिन्न प्रकार से श्रृंगार किया जाता है। सिध्महापीठ पर राष्ट्रहित के लिए विशेष तिथियों में अनुष्ठान और महाभिषेक किये जाते है।

LEAVE A REPLY