AUS vs IND, 1st Test:…लेकिन रोहित शर्मा यह बड़ी उपलब्धि हासिल कर ही गए

0
19

करीब दस महीने बाद टेस्ट टीम में लौटे हिटमैन के नाम से मशहूर मुंबईया रोहित शर्मा ने एडिलेड में पहले टेस्ट के पहले दिन (मैच रिपोर्ट) 37 रन की छोटी पारी जरूर खेली, लेकिन इस पारी ने रोहित ने टीम मैनेजमेंट और क्रिकेटप्रेमियों को यह भरोसा दिया कि वह नंबर छह पर जलवा बिखेरने के लिए तैयार हैं. हालांकि, रोहित शर्मा ने जिस अंदाज में अपना विकेट गंवाया, उसकी बहुत ही ज्यादा और चौतरफा आलोचना हो रही है. लेकिन अपनी इस आलोचना के बीच रोहित शर्मा ने एक बड़ा कारनामा कर डाला. यह कारनामा रोहित ने पिछले साल भी किया था. कुल मिलाकर उन्होंने साबित किया कि अगर क्रिकेट जगत उन्हें हिटमैन कहता है, तो वह इसके पूरी तरह से हकदार हैं.

रोहित ने एडिलेड से पहले अपना आखिरी टेस्ट मैच इसी साल जनवरी में सेंचुरियन में दक्षिण अफ्रीका में खेला खेला था. इस टेस्ट में रोहित ने पहली पारी में दस और दूसरी पारी में 47 रन का योगदान दिया था. लेकिन इसके बाद उन्हें अगली कुछ सीरीजों के लिए ड्रॉप कर दिया गया था. इसी बीच रोहित ने वनडे में कुछ बेहतरीन पारियां खेलीं. इस प्रदर्शन की  बदौलत टेस्ट टीम में वापसी हुई, तो एडिलेड के पहले दिन उनकी बल्लेबाजी में वनडे का असर साफ दिखाई पड़ा.

रोहित ने अपनी 37 रन की पारी के लिए 61 गेंद खेलीं और 2 चौके व 3 छक्के लगाए. इसके अलावा उन्होंने पांचवें विकेट के लिए पुजारा के साथ 45 रन जोड़कर एक बड़ी साझेदारी की उम्मीद जगाई थी. हालांकि, वे इन उम्मीदों को परवान नहीं चढ़ा सके, लेकिन आउट होने से पहले रोहित एक बड़ा कारनामा कर गए. आपको बता दें कि साल 2018 में सभी फॉर्मेटों में मिलाकर रोहित दुनिया में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाज बन चुके हैं. इस कारनामे को रोहित ने पिछले साल भी अंजाम दिया था. साल 2017 में रोहित ने सभी फॉर्मेटों में 65 छक्के लगाए थे.

इस साल यानी साल 2018 में रोहित शर्मा खेल के तीनों फॉर्मेंटों में मिलाकर 73 छक्के जड़ चुके हैं. चलिए आप यह भी जान लीजिए कि पिछले कुछ सालों में सबसे ज्यादा छक्के किन बल्लेबाजों ने जड़े

छक्के            बल्लेबाज             साल
73                 रोहित               2018
65                  रोहित               2017
63             एबी डि विलियर्स    2015
59                   क्रिस गेल        2012
57                शेन वॉटसन         2011

LEAVE A REPLY