न्यूजीलैंड ने भारत को दी सबसे बड़ी हार, ये रहे हार के 4 कारण

0
25

न्यूजीलैंड ने बुधवार को वेलिंग्टन के वेस्टपैक स्टेडियम में खेले गए पहले टी-20 इंटरनेशनल मैच में भारत को 80 रन से मात दी है और टीम इंडिया पर इस फॉर्मेट में अपने दबदबे को और भी मजबूत किया है. इसी के साथ न्यूजीलैंड ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है. पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड की टीम ने भारत के सामने 220 रनों की चुनौती रखी. भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर कीवी टीम को पहले बल्लेबाजी के लिए बुलाया. 

मेजबान टीम के बल्लेबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 219 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया. न्यूजीलैंड के 220 रनों के लक्ष्य के सामने भारतीय टीम 19.2 ओवरों में 139 रनों पर ढेर हो गई. भारत के लिए महेंद्र सिंह धोनी ने सबसे ज्यादा 39 रन बनाए. शिखर धवन ने 29 और विजय शंकर ने 27 रन बनाए. 

यह टी-20 मैचों मे भारत को रनों के लिहाज से अब तक की सबसे बड़ी हार है. भारतीय टीम 7 मई 2010 को ब्रिजटाउन में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 49 रनों से हारी थी. अब नौ साल के बाद भारत का यह रिकॉर्ड टूट गया है. कीवी टीम ने हालांकि इससे पहले भी दो बार भारत को बड़ी हार पर मजबूर किया है. 

2016 में नागपुर में भारत को कीवी टीम के हाथों 47 और फिर 2017 में राजकोट में 40 रनों से हार मिली थी. विकेटों के लिहाज से भारत को तीन मौकों पर नौ विकेट से हार मिली है और एक बार वेस्टइंडीज और दो बार ऑस्ट्रेलिया ने उसे इस अंतर से हराया है. खास बात यह है कि ये तीनों मैच घर से बाहर हुए हैं.आइए एक नजर डालते हैं वेलिंगटन में टीम इंडिया की हार के 4 बड़े कारणों पर:

1. गेंदबाजों का खराब प्रदर्शन: वेलिंग्टन के वेस्टपैक स्टेडियम में खेले गए पहले टी-20 इंटरनेशनल मैच में भारतीय गेंदबाजों का प्रदर्शन बेहद खराब रहा. टीम के पांच गेंदबाजों में से तीन बॉलरों का इकॉनमी रेट 10 से ऊपर का रहा. भारतीय गेंदबाजी इतनी कमजोर रही कि कीवी बल्लेबाजों ने 8 ओवर में बिना कोई विकेट गंवाए 85 रन ठोक दिए थे. इतना ही नहीं न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों ने आखिरी 5 ओवर में 55 रन जोड़ दिए और मैच को भारत की पहुंच से दूर ले गए.

2. टिम सेफर्ट की विस्फोटक पारी: न्यूजीलैंड के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज टिम सेफर्ट ने भारतीय गेंदबाजी आक्रमण की धज्जियां उड़ाते हुए 43 गेंद में 84 रन बनाए जिसकी मदद से न्यूजीलैंड ने भारत के खिलाफ छह विकेट पर 219 रन का स्कोर बनाया. टी-20 क्रिकेट में सेफर्ट का पिछला सर्वोच्च स्कोर 14 रन था. उन्हें आज कोलिन मुनरो के साथ पारी का आगाज करने भेजा गया. दोनों ने सिर्फ 8.2 ओवर में 86 रन जोड़कर टीम को आक्रामक शुरूआत दी. सीफर्ट ने अपनी पारी में सात चौके और छह छक्के लगाए.

3. भारतीय फील्डरों का कैच टपकाना: गेंदबाजों के लचर प्रदर्शन के साथ-साथ भारत की फील्डिंग भी काफी घटिया रही. भारत के फील्डरों ने न्यूजीलैंड की पारी में तीन कैच छोड़े जिसमें विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धोनी का भी कैच टपकाना भी शामिल रहा. न्यूजीलैंड की पारी के पांचवें ओवर में महेंद्र सिंह धोनी ने क्रुणाल पंड्या की गेंद पर विकेट के पीछे टिम सेफर्ट को जीवनदान दिया. इसके बाद दिनेश कार्तिक ने 11वें ओवर में टिम सेफर्ट और 18वें ओवर में रोस टेलर का कैच छोड़ा. 

4. भारत की लचर बल्लेबाजी: गेंदबाजी और फील्डिंग के साथ-साथ भारत की बल्लेबाजी भी बहुत खराब रही. न्यूजीलैंड के 220 रनों के लक्ष्य के सामने भारतीय टीम 19.2 ओवरों में 139 रनों पर ढेर हो गई. भारत के लिए महेंद्र सिंह धोनी ने सबसे ज्यादा 39 रन बनाए. शिखर धवन ने 29 और विजय शंकर ने 27 रन बनाए. भारत के सात बल्लेबाज तो दहाई के आंकड़े को भी पार नहीं कर पाए

LEAVE A REPLY