Patanjali: बाबा रामदेव की नजर अडानी की डील पर, 6 हजार करोड़ का है दांव

0
21

योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने एक बार फिर से उस डील में दिलचस्‍पी दिखाई है, जिसे गौतम अडानी की कंपनी ने अपने नाम कर लिया था. यह डील एडिबल ऑयल मेकिंग कंपनी रुचि सोया की है. दरअसल, गौतम अडानी की कंपनी अडानी विल्मर ने अगस्‍त में रुचि सोया को खुली बोली प्रक्रिया के जरिए खरीदा था.

अब खरीदने से इनकार

अडानी विल्मर ने यह डील करीब 6 हजार करोड़ रुपये में की थी, लेकिन अभी नेशलन कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल की मंजूरी नहीं मिली है. इन सबके बीच अडानी विल्मर ने खरीद प्रक्रिया में देरी बताते हुए रुचि सोया को खरीदने से इनकार कर दिया है.  हाल ही में अडानी विल्मर ने बिक्री प्रक्रिया देख रहे विशेषज्ञ और कर्जदाताओं को पत्र लिखकर कहा है कि वह बिक्री प्रक्रिया में देरी के कारण इस सौदे से पीछे हट रही है. यहां बता दें कि अडानी विल्मर भारतीय उद्योगपति गौतम अडानी और सिंगापुर की कंपनी विल्मर इंटरनेशनल का ज्‍वॉइंट वेंचर है.

पतंजलि ने दिखाई दिलचस्पी

अडानी विल्‍मर के इनकार के बाद एक बार फिर से पतंजलि ने रुचि सोया को खरीदने में दिलचस्‍पी दिखाई है. पतंजलि के प्रवक्ता एस.के.तिजारावाला ने इस बारे में पूछे जाने पर कहा , ‘‘हां, हमें दिलचस्पी है. यदि हमें मंजूरी मिली तो हम रुचि सोया का अधिग्रहण करने के लिये तैयार हैं.’’ बता दें कि पतंजलि आयुर्वेद रुचि सोया की बिक्री प्रक्रिया में दूसरी सबसे बड़ी बोली लगाने वाली कंपनी रही थी. हालांकि अडानी विल्‍मर ने बाजी मार ली थी.

LEAVE A REPLY